Saturday, November 17, 2007

निम्न रक्त चाप

३२ किशमिश किसी चीनी के कप में २४० ग्राम पानी में भिगो दें। बारह घण्टे भीगने के बाद प्रातः एक-एक किशमिश को उठाकर खूब चबा-चबाकर (प्रत्येक किशमिश को बत्तीस बार चबाकर) खाने से निम्न रक्तचाप में बहुत लाभ होता है। पूर्ण लाभ के लिये बत्तीस दिन खायें। एक महीना व्यवहार करने से देह से रोग-विष शीघ्र बाहर हो जाता है।

 

या निम्न रक्तचाप या हृदय-दुर्बलता के कारण मुर्छित हो जाने पर हरे आँवलों का रस और शहद बराबर-बराबर दो-दो चम्मच मिलाकर चटाने से होश आ जाता है और ह्रदय की कमजोरी दूर हो जाती है।

2 comments:

आलोक said...

c/निम्म/निम्न
c/ह्रदय/हृदय

वैसे कुल चबाव संख्या कुल चबाव संख्या - ३२x३२x३२ हुई।

दादी said...

आलोक जी,

दादी को कैसे लिखना चाहिए, यह भी बताएँ तो आपके इस सुझाव का मायना अच्छा होगा। हृदय - लिखना समझना कठिन था।